Google+ Followers

Saturday, June 1, 2013

शायरी

किस -किस को मेरे दोस्तों मेरा गम हुआ कहो ।

कुछ भी न कर सके तो रब से दुआ करो ।

इतना भी न कर पाओ तो मेरे दोस्तों सुनो ,

बेवजह मुझे दोस्त - दोस्त ना कहा करो ।   

No comments:

Post a Comment