Google+ Followers

Thursday, April 4, 2013

शायरी

माँ के लिए बच्चें ,  किसी दुआ की तरह हैं ,

पर सच तो है हर एक माँ , खुदा की तरह हैं  ।



3 comments:

  1. प्रिति जी खुदा को तो हमने नहीं देखा पर मुझे लगता है अगर है भी तो वह मां की तरह जरूर होगा।

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी.बेह्तरीन अभिव्यक्ति'
    आपका ब्लॉग देखा मैने और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.
    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena69.blogspot.in/

    ReplyDelete
  3. VIJAY JI OR MADAN MOHAN JI AAP DONO KA BHUT BHUT DHNYAWAD...........MADAN JI M AAPKA BLOG JRUR DEKHUNGI....DHNYAWAD.

    ReplyDelete