Google+ Followers

Saturday, September 17, 2016

शायर हूँ मैं

मैंने कई बार चुरायें हैं दर्द लोगों के,
मेरा परिचय है,गुनहगार हूँ शायर हूँ मैं।

By
प्रीति सुमन

No comments:

Post a Comment