Google+ Followers

Wednesday, May 11, 2016

मैंने तो इबादत की है

तुम बदल सकते हो तुमने तो मुहब्ब्त की है ,,,
मैं ख़ुदा कैसे बदलूँ मैंने तो इबादत की है ॥ 



Tum Badl Sakte Ho ,, Tumne To Muhbbat Ki Hai ,,,,,


Mai KHUDA Kaise Badlu Maine To Ibadat Ki Hai .....

No comments:

Post a Comment