Google+ Followers

Thursday, October 29, 2015

कसम है तुझे ऐ दिल

अगर हश्र यही हुआ करती है मुहब्बत की ,
तो कसम है तुझे ऐ दिल , 
जो तूने किसी से मुहब्बत की।  



Agr Hashra ye Hua krti Hai Muhbbat Ki, 
To Ksm Hai Tujhe Aie Dil Jo Tune Kbhi Muhbbat Ki..




No comments:

Post a Comment