Google+ Followers

Wednesday, July 15, 2015

दूरियां मुहब्बत में

इसलिए दूरियां बढ़ती गई मुहब्बत में ,
हमसे रूठा न गया उनसे मनाया न गया ।


Isliye Duriya Bdhti Gai Muhbbat Me  ,
Hmse Rutha N gya Unse Mnaya N Gya .......




No comments:

Post a Comment