Google+ Followers

Tuesday, August 19, 2014

खुदा ले के चल

निगाहों मे सारा जहाँ ले के चल ,  
बुर्जुगों की सर पे दुआ ले के चल।
 
तू सबसे अलग है तू सबसे जुदा, 
ले ऐसी हुनर ये अदा ले के चल।  
 
न तुम बेवफा हो न मैं बेवफा ,  
न टूटे यकीं वो वफा ले के चल।  
 
सभी हैं हमारे सभी के हैं हम ,  
तू दिल में यही फलसफा ले के चल ।

न मंदिर में है ना वो मस्जिद में है,
है अपने ही अंदर खुदा ले के चल।


No comments:

Post a Comment