Google+ Followers

Tuesday, June 10, 2014

मत पूछो अब कैसा उसको खोकर लगता है

साँसें बेदम लगती है जी धूं कर जलता है ।
मत पूछो अब कैसा उसको खोकर लगता है ।

पूछ रहे हो मुझसे तुम क्यूँ मेरा नाम पता ,
मैं जिन्दा हूँ तुमको ऐसा क्यूँकर लगता है ।

मैं जब मेरे साथ नही फिर तुम क्या दोगे साथ ,
तन्हा - तन्हा दिल अब उसका होकर लगता है ।

जीना भी अच्छा नही लगता अब तो उसके बाद ,
अच्छा तो अब याद में उसकी रोकर लगता है ।

वादा सात जनम का ले लो प्यार न होगा कम ,
दिल को राहत अब तेरा गम लेकर मिलता है । 

No comments:

Post a Comment