Google+ Followers

Monday, June 9, 2014

तेरा साथ

मुसीबत भले साथ मेरे चले ,
अन्धेरें राहों में घेरे चले ,

परवाह नही कोई चिंता नही ,
अगर दोस्त तू साथ मेरे चले ।।


No comments:

Post a Comment