Google+ Followers

Saturday, June 21, 2014

बेवफाई

न अब मुकदमा होगा न गवाही होगी ,
फैसला हो गया अब दिल की रिहाई होगी ।

न अब उम्मींद रखी जाएगी इक दूसरे से ,
न हम करेंगे वफ़ा न तुमसे बेवफाई होगी । ।


No comments:

Post a Comment