Google+ Followers

Thursday, May 8, 2014

खुदा मेरा

मैं तुझे ढूंढता था बाहर तू मिलता ही नही था ।
.
.
.
.
.
.
अब पता चला खुदा मेरा मुझमें ही कहीं था ।



No comments:

Post a Comment