Google+ Followers

Friday, June 14, 2013

हौसला चट्टान सा

हालात के मारे हुए रोते भी हैं हँसते भी हैं ।
                   तोड़े तो नही जा सके टूटे हुए लगते भी हैं ।

तूफ़ान सा उठता है गम तबाह करने को जहाँ ,
             डरते भी हैं पर हौसला चट्टान सा रखते भी हैं ।

No comments:

Post a Comment