Google+ Followers

Sunday, May 12, 2013

शायरी

मौत का डर उन्हें हो जिनको जिन्दगी हो मिली ,

हम तो न मौत के हुए न जिन्दगी के कभी । 

No comments:

Post a Comment