Google+ Followers

Friday, May 31, 2013

शायरी

मसला ये है दिल को आएगी कब अकल ,


दीवाना आज रो रहा है दिल जला था कल ।  

No comments:

Post a Comment