Google+ Followers

Tuesday, April 23, 2013

शायरी

देना न उसको कोई ,
दिल का कभी पता ,

दिलों से खेलने का उसे शौख है बड़ा । 

आदत है मुहब्बत ,
और लत है आशिकी ,

खिलाडी उसे समझलो दिल का नही बुरा । 

No comments:

Post a Comment