Google+ Followers

Friday, April 5, 2013

मुझे अच्छा नही लगता

उसके हालात पे रोना ,  मुझे अच्छा  नही लगता ।
मगर चुपचाप भी रहना , मुझे अच्छा नही लगता ।

वो कहता भी है मुझको छोड़ दो , अब हाल पे मेरे ,
मगर यूँ बेखबर होना , मुझे अच्छा नही लगता ।

मैं कुछ समझा नही पाती , वो कुछ जता नही पाता ,
की उसका कुछ भी न कहना  , मुझे अच्छा नही लगता ।

जिसके पास है गम  , वो दवाई क्यूँ नही करतें ,
की यूँ तकदीर पर रहना , मुझे अच्छा नही लगता ।

मुझे मालुम है   , वो पार भी आएगा दरिया से  ,
उसका मझधार में बहना , मुझे अच्छा नही लगता ।

दिल की बात मैं  ,  ये सोचकर कहती नही उससे ,
की बिना मांगे सलाह देना , मुझे अच्छा नही लगता । 

No comments:

Post a Comment