Google+ Followers

Friday, March 29, 2013

शायरी

वो दे गयें हैं बेवजह इतनी दलील क्यूँ ,

मुजरिम हो गये हैं क्या वो अपनी निगाह में । 

No comments:

Post a Comment