Google+ Followers

Sunday, March 31, 2013

शायरी

ना तुम बुरे सनम , ना हम बुरे सनम ,

कुछ किस्मत बुरी है और कुछ वक्त बुरा है । 

No comments:

Post a Comment